ननगेली ने हमें कहीं का नहीं छोड़ा!

शोषण और दमन का विरोध करने वालों की सूची बहुत लम्बी है। कैसी- कैसी परिस्थिति में लोग शोषण और दमन के खिलाफ क्या क्या कर गुज़रे ये सुन कर ही दिल दहल जाता है। ननगेली की कहानी अगर आप सुन लें तो शायद मनुष्य होने पर भी शर्म आने लगे।

आगे पढ़े

मुखौटों की हिल जातरा

हिल जातरा उत्तराखंड का पारम्परिक लोक नाट्य उत्सव है। इस उत्सव में कलाकार अलग अलग रंगों और आकारों के मुखौटे पहन कर अभिनय करते हुए अपनी भागीदारी दर्ज करते हैं। यह लेख इस मुखौटों की दुनिया को डिजिटल चित्रों में उकेरने का एक प्रयास है।

आगे पढ़े

मैं कानूनी रूप से दोहरे दर्जे का नागरिक हूँ

सम्पूर्ण भारतवर्ष में जब कोई नागरिक संकट में होता है तो 100 डायल करता है। पर यह मूलभूत सुविधा मुझे उपलब्ध नहीं है। और मैं अकेला नहीं हूँ। उत्तराखंड के लगभग दो तिहाही लोग इस मूल अधिकार से पूर्ण रूप से वंचित है। और अदालतें भी इस अवैधता को स्वीकार करती हैं।

आगे पढ़े

चारधाम चौड़ीकरण पर अदालती आदेश के मायने

चारधाम सड़क परियोजना पर उच्चतम न्यायालय के आदेश के चलते अब चार लेन सड़क नहीं बन सकती। इस लेख के माध्यम से हम न्यायालय के आदेश का हिन्दी अनुवाद तो प्रस्तुत कर रहे ही हैं, साथ ही साथ यह लेख इस आदेश के संदर्भ व मायने को समझने का प्रयास भी है।

आगे पढ़े

मनुष्य भी रहते हैं इस देवभूमि में

डॉ. नवीन जुयाल ने बड़ी आसानी से एक बहुत बड़ी बात हमारे समक्ष रखी है। उनका कहना है कि सब लोग उत्तराखंड को देवभूमि कहते है और हम आत्ममुग्धता के गुब्बारे से फूले रहते हैं। असलियत यह है कि उत्तराखंड में मनुष्य भी रहते हैं जिनकी अपनी जरूरतें हैं, अपने सरोकार हैं। इस धरा से उनके भी जुड़ाव के मुद्दे हैं।

आगे पढ़े

चार धाम, चार लेन और चार सवाल!

‘चारधाम मार्ग का पुनरुद्धार’ के तहत हो रहे चौड़ीकरण को लेकर कुछ मूलभूत प्रश्न हैं जो बार-बार परेशान करते हैं। इन मसलों को, जो अन्य ‘पुनरुद्धारों’ के भी हैं, आपके समक्ष प्रस्तुत कर रहे हैं ताकि तार्किक संवाद हो और हम किसी वाजिब निष्कर्ष पर पहुँचें।

आगे पढ़े

ज्ञानिमा के नाम और प्रतीक चिन्ह की कहानी

हम एक ऐसा नाम चाहते थे जो थोड़ा हट कर हो पर इतना आसान नहीं था ऐसा नाम ढूंढना जो हमारे विचारों का ठीक से प्रतिनिधित्व भी करे और हट कर भी हो। हमारे लिए ये भी जरूरी था की नाम हिन्दी में हो, आसानी से बोला या लिखा जा सके तथा सुनने में कर्णप्रिय हो। खोजते खोजते हम भारत की सरहद पार कर गए !

आगे पढ़े